सू प्रौ समर्थित सेवा पॉलिसी – एकल ग्राहक ( एस आई टी ई एस )

निर्यातक के लिए निर्यात ऋण बीमा

ऋण बीमा पॉलिसियां

सू प्रौ समर्थित सेवा पॉलिसी

आई टी समर्थ सेवा पॉलिसी, किसी ग्राहक को आई टी समर्थ सेवाएँ प्रदान करने में निहित निम्नलिखित वाणिज्यिक व राजनीतिक जोखिमों को रक्षा प्रदान करने के लिए जारी की जाती है:

वाणिज्यिक जोखिम:

  • ग्राहक का दिवालियापन
  • विशिष्ट अवधि जो सामान्यतया देय तारीख से चार माह की होती है, के भीतर भुगतान करने में ग्राहक की असफलता।
  • प्रदान की गई सेवाओं को स्वीकार करने में खरीदार की असफलता (कुछ शर्तों के अधीन)

बैंक जोखिम:

  • साख पत्र खोलने वाले बैंक का दिवालियापन
  • विशिष्ट अवधि के भीतर, जो सामान्यतया देय तारीख से चार माही की होती है के भीतर साख पत्र खोलनेवाले बैंक की असफलता (दस्तावेजों में असंगतियों के कारण गैर अदायगी को संरक्षित नहीं किया जाएगा)

राजनीतिक जोखिम:

  • ग्राहक के देश की सरकार द्वारा प्रतिबंध लगाना अथवा सरकार द्वारा ऐसी कोई कार्रवाई जो ग्राहक द्वारा किए गए भुगतान के अंतरण में विलंब करे अथवा रोके
  • ग्राहक के देश में युद्‌ध, गृह युद्‌ध, क्रांति अथवा नागरिक उपद्रव
  • ग्राहक के देश के प्राधिकारियों द्वारा वैध आयात लाइसेंस रद्‌द करना अथवा नए आयात प्रतिबंध
  • निर्यातक व ग्राहक के बीच कानूनी रूप से वैध व आबद्‌ध संविदा को भारत सरकार द्वारा रद्‌द करना

किस तरह की आई टी समर्थ सेवा संविदाएँ रक्षा के लिए पात्र होंगी ?

आई टी समर्थ सेवा पॉलिसी परिभाषित अवधि के दौरान बिल के साथ प्रदान की जाने वाली सेवाओं, जो निर्धारित अवधि जैसे एक सप्ताह, एक माह अथवा एक तिमाही के दौरान प्रदान की गई सेवा के आधार पर होती है, जहाँ प्रदान की गई सेवाओं के लिए भुगतान देय है और वे विदेशी मुद्रा में प्राप्त होंगे, के लिए की गई संविदों के लिए रक्षा प्रदान करती है ।

आईटीइएस पॉलिसियों के कितने प्रकार है?

आईटीइएस पॉलिसियों के दो प्रकार है;

  1. एकल खरीदार आईटी – समर्थ सेवा पॉलिसी (एसआईटीईएस)
  2. बहु ग्राहक आईटी – समर्थ सेवा पॉलिसी (एमआईटीईएस)

आईटीइएस (एकल खरीदार) प्रस्ताव पत्र को डाऊन लोड करने के लिए यहाँ क्लिक करें।

क्या करें और क्या ना करें के लिए यहाँ क्लिक करें।